Vande Bharat Express stone-pelting

Vande Bharat Express Stone-Pelting: 2 जनवरी, 2023 को पश्चिम बंगाल के मालदा जिले में हावड़ा-न्यू जलपाईगुड़ी वंदे भारत एक्सप्रेस पर पथराव की घटना नई लॉन्च की गई ट्रेन में लगे एक सीसीटीवी में रिकॉर्ड हो गई थी।  वीडियो फुटेज में चार लोग वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन पर पत्थर फेंकते नजर आ रहे हैं।

तस्वीर में नज़र आए 7 लोग-

इस बीच, वंदे भारत एक्सप्रेस पर पथराव की घटना के संबंध में रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ), राज्य जीआरपी और राज्य पुलिस के साथ गहन जांच कर रही है। तस्वीरें दिखाती हैं कि वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन पर बच्चे भी पथराव कर रहे थे। उन्होंने कहा कि तस्वीरों में कुल सात लोग नजर आ रहे हैं।

पथराव करने वालों पर होगी कार्रवाई-

रेलवे ने हावड़ा-न्यू जलपाईगुड़ी वंदे भारत ट्रेन के रेक में लगे सीसीटीवी कैमरे द्वारा लिए गए वीडियो फुटेज और तस्वीरों के आधार पर वीडियो में पथराव करने वालों की पहचान की है। कर्मियों ने पथराव करने वालों को पकड़ने और दोषियों के खिलाफ उचित कानूनी कार्रवाई करने की पहल की है।

पश्चिम बंगाल के अधिकारियों और पुलिस बल को तदनुसार अपराधियों को पकड़ने और कानूनी प्रक्रिया शुरू करने की सलाह दी गई है।आरपीएफ ने इस तरह की पथराव की घटनाओं को रोकने के लिए एक अभियान शुरू किया है और रेलवे संपत्ति को इस तरह के नुकसान के किसी भी इरादे का पता लगाने के लिए सभी रेलवे स्टेशनों पर कड़ी निगरानी रख रही है।

पश्चिम बंगाल में वंदे भारत एक्सप्रेस पर पथराव-

  • 2 जनवरी को हुई इस घटना में 22303 वंदे भारत एक्सप्रेस के कोच नंबर सी13 का शीशा क्षतिग्रस्त हो गया।
  • एक अन्य घटना में, 3 जनवरी, 2023 को उत्तर बंगाल में बाहर से पथराव के कारण नव-उद्घाटित हावड़ा-न्यू जलपाईगुड़ी वंदे भारत एक्सप्रेस के दो डिब्बों की खिड़की के शीशे क्षतिग्रस्त हो गए।
  • हावड़ा-न्यू जलपाईगुड़ी वंदे भारत एक्सप्रेस सेवा का उद्घाटन 30 दिसंबर को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किया गया था और एक जनवरी को वाणिज्यिक सेवाएं शुरू हुईं।
  • पथराव की घटनाओं ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के बीच राजनीतिक गतिरोध पैदा कर दिया है। भाजपा ने घटना की एनआईए जांच की मांग की है, जबकि तृणमूल कांग्रेस ने “राज्य को बदनाम करने की साजिश” का संकेत दिया है।