Bhopal Crime
Bhopal Crime

भोपाल। अवधपुरी थाना क्षेत्र स्थित मुख्य सड़क अवधपुरी में एक्सिस बैंक के पास गुरुवार दोपहर आधा दर्जन बदमाशों ने एक युवक को घेरकर उससे मारपीट करते हुए उसके पेट और पीठ में चाकू से हमला कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने युवक को घायल अवस्था में हमीदिया अस्पताल में भर्ती कराया है। जब उसे अस्पताल ले जाया गया, उसकी पीठ में छुरा फंसा हुआ था। पुलिस ने उक्त मामले में एक नामजद आरोपी और उसके छह अन्य साथियों पर मामला दर्ज किया है।

विवाद की वजह किसी लड़की की बात सामने आ रही है। पुलिस का कहना है कि घायल के ठीक होने पर विस्तृत बयान दर्ज किए जाएगे। एएसआई साहबलाल कुमरे ने बताया कि सुरेश उईके पिता बेरा उईके (21) चांदबाड़ी, झुग्गी पिपलानी में रहता है। वह साफ सफाई का काम करता है।

आरोपियों ने लात घूंसों से मारा-

उसने पुलिस को बताया कि वह काम की तलाश में गुरुवार दोपहर अवधपुरी आया था। इस दौरान एक्सिस बैंक के पास मुख्य सड़क पर उसे चुन्नु उर्फ हर्ष कैथोरिया ने अपने छह अन्य साथियों के साथ रोक लिया। सुरेश के रुकते ही आरोपी उससे गाली-गलौज करने लगे। सुरेश कुछ समझ पाता इससे पहले ही आरोपियों ने उससे लात घूंसों से मारपीट शुरू कर दी। इसी बीच उसके पेट पर चाकू से हमला किया गया। पेट में चाकू लगने के बाद सुरेश ने भागने का प्रयास किया तो आरोपियों ने उसकी पीठ में भी चाकू घोंप दिया था। चाकू पीठ में काफी अंदर तक घुंसा है।

पुलिस का कहना है कि उसे हमीदिया अस्पताल ले जाया गया था। वहां उसका इलाज चल रहा है। पीठ में चाकू काफी गहरा घुंसा होने के कारण फंस गया था। डॉक्टर ने ऑपरेशन कर चाकू बाहर निकाला था। पुलिस  ने उक्त मामले में आरोपी चुन्नु उर्फ हर्ष कैथोरिया और उसके साथियों पर हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी है।

Bhopal Crime: बी फार्मा के छात्र ने फांसी लगाकर दी जान, सुसाइड नोट बरामद

चार साल से महिला का कर रहा शारीरिक शोषण, केस दर्ज

भोपाल। पति से अलग होने के बाद महिला रेलवे केंटीन के एक कर्मचारी के संपर्क में आ गई। इस कर्मचारी ने नजदीकियां बढ़ाने के बाद युवती को शादी का झांसा दिया तथा शारीरिक शोषण करने लगा। चार साल तक शोषण करने के बाद उसने महिला को छोड़ दिया। महिला ने कल मामले की शिकायत पुलिस को कर दी। पुलिस ने बलात्कार का प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पुलिस ने बताया कि 32 वर्षीय महिला हनुमानगंज थानाक्षेत्र की एक कॉलोनी में रहती है तथा रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म पर खाना बनाने का काम करती है। पूर्व में उसकी शादी हुई थी लेकिन चूंकि पति मारपीट करता था इसलिए वह अपनी बच्ची को लेकर अपने पिता के घर आ गई थी। कई सालों से वह अपने पिता के घर ही रह रही है।

प्रभाकर रेलवे की कैंटीन में काम करता था-

वर्ष 2014 में उसके पिता की मौत भी हो गई। उसके पिता रेलवे के स्टाफ में थे। उस समय प्रभाकर मिश्रा नाम के युवक का महिला के घर आना-जाना था। प्रभाकर रेलवे की कैंटीन में काम करता था। उसके घर आने-जाने के कारण महिला की उससे पहचान हो गई। पिता की मौत के बाद प्रभाकर ने महिला से कहा कि मैं तुमसे प्यार करता हूं तथा शादी भी करना चाहता हूं। मैं तुम्हारे बच्ची की देखभाल भी करूंगा। चूंकि महिला को भी एक सहारे की जरूरत थी इसलिए वह प्रभाकर के झांसे में आ गई। मार्च 2017 में एक दिन प्रभाकर महिला के घर पहुंच गया।

उस समय महिला घर में अकेली थी उसने सूनेपन का फायदा उठाते हुए महिला के साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद जल्द ही शादी का झांसा देकर वह अक्सर ही उसके साथ शारीरिक संबंध बनाने लगा। वह महिला के साथ ही रहने लगा। फरवरी 2022 में प्रभाकर ने अपनी मां की बीमारी का बहाना बनाया तथा महिला को छोड़कर चला गया।

पिछले करीब एक साल में महिला ने अलग-अलग तरीके से प्रभाकर पर शादी करने के लिए दबाव डाला लेकिन वह नहीं माना। परेशान होकर महिला ने कल मामले की शिकायत थाने में कर दी। हनुमानगंज पुलिस ने बलात्कार का प्रकरण दर्ज करने के बाद आरोपी प्रभाकर की तलाश शुरू कर दी है।