भोपाल। आगामी चुनावों से पहले अपनी 21 सुत्रीय मांगों को लेकर करनी सेना ने मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। आर्थिक आधार पर आरक्षण की मांग, जातिगत आरक्षण की पुन: समीक्षा और एट्रोसिटी एक्ट के विरोध सहित 21 सूत्रीय मांगों को लेकर भेल जंबूरी मैदान पर राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना द्वारा महाआंदोलन आयोजित किया गया है। जंबूरी मैदान में मध्यप्रदेश के अलावा हरियाणा, राजस्थान, महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ के कार्यकर्ता पहुंचे हैं। मैदान पर 3 लाख से ज्यादा राजपूतों के एकत्रित होने का दावा किया गया है।

ब्राह्नाण, पाटीदार समेत अन्य समाज का भी समर्थन मिला

Pravasi Bharatiya sammelan : प्रवासियों का सम्मान करेंगी राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु

मैदान में युवा और करणी सेना के लोग ‘माई के लाल’ के नारे लगा रहे हैं। आर्थिक आधार पर आरक्षण की मांग को लेकर नारेबाजी कर रहे। इस जनआंदोलन में ब्राह्नाण, पाटीदार समेत अन्य समाज का भी समर्थन मिला है। इस महाआंदोलन के कारण भेल के आस-पास की सड़कों पर जाम लग गया, भेल महात्मा गांधी चौराहे से अवधपुरी, आनंद नगर तक भीड़ जमा है, बढ़ती भीड़ को देखकर ट्रैफिक पुलिस ने जंबूरी मैदान की ओर जाने वाले रास्‍तों पर ट्रैफिक डायवर्ट कर दिया।

याद ए मीना नकवी : होगी व्यक्तित्व पर बात, सम्मान समारोह भी

भोपाल। सुप्रसिद्ध साहित्यकार डॉ मीना नकवी के व्यक्तित्व पर बात करने राजधानी भोपाल में एक कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। 15 जनवरी को होने वाले इस कार्यक्रम का तानाबाना सबरस अकादमी और जश्न ए अल्फाज ने संयुक्त रूप से बुना है। कार्यक्रम संयोजक रिजवान उद्दीन फारूकी, सैयद आबिद हुसैन और सुहैल उमर ने बताया कि कार्यक्रम के दौरान मरहूम साहित्यकार डॉ मीना नकवी के व्यक्तित्व और कृतित्व पर चर्चा की जाएगी। इस चर्चा को जिया फारूकी और डॉ नुसरत मेहदी आगे बढ़ाएंगे। इस मौके पर काजी मलिक नवेद काव्यांजलि पेश करेंगे। कार्यक्रम संयोजकों ने बताया कि कार्यक्रम के दौरान प्रसिद्ध साहित्यकार साजिद प्रेमी का सम्मान भी किया जाएगा।