Pravasi Bhartiya Sammelan
Pravasi Bhartiya Sammelan

Bhopal News: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान प्रवासी भारतीय सम्मेलन में शामिल होने आए मेहमानों के आवभगत में कोई कमी नहीं रहने देना चाह रहे हैं। मुख्यमंत्री ने रविवार शाम को प्रवासी उद्योगपतियों से वन-टू-वन कर प्रदेश में निवेशकों को मिलने वाली सुविधाओं की जानकारी दी और निवेश के लिए आग्रह किया।

इसके बाद मुख्यमंत्री अपने धर्मपत्नी साधना सिंह के साथ 56 दुकान पहुंचे। 56 दुकान में मुख्यमंत्री ने प्रवासी भारतीयों का शॉल से स्वागत किया और उनके सम्मान में गाने भी गाए। मुख्यमंत्री चौहान के साथ कई प्रवासियों ने भी गाना गुनगुनाया। इतना ही नहीं मुख्यमंत्री चौहान की धर्मपत्नी साधना सिंह ने प्रवासी सम्मेलन में शामिल होने आईं महिला मेहमानों को अपने हाथ से खाना खिलाया है।

छप्पन दुकान के व्यंजनों इसमें मुख्य रूप से पावभाजी, पानीपुरी, दहीपुरी, आलू पेटिस, जॉनी हॉट डाग, रबड़ी, गजक सहित मिठाईयों का आनंद उठाया। यहां पर अतिथि देवो भव: का नजारा भी देखने को मिला।

प्रवासी भारतीय सम्मेलन: इंदौर पहुंचे प्रधानमंत्री, प्रवासियों के साथ लंच करेंगे

ची चाउ पाइ बन गईं सीता देवी-

चीन की ची चाउ पाइ को भारतीय संस्कृति और अध्यात्म इतना पसंद आया कि उन्होंने अपना नाम ही बदल लिया। रख लिया-सीता देवी। अब वह किसी को अपना नाम यही बताती हैं और भारतीय महिलाओं की परंपरागत परिधान साड़ी पहनना ज्यादा पसंद करती हैं।

इन दिनों सिंगापुर में रह रहीं ची चाउ पाइ उर्फ सीता देवी भारतीय प्रवासी सम्मेलन में इंदौर आई हुई हैं। भारतीय संस्कृति के प्रति आकर्षण उनको यहां खींच लाया है। उन्होंने बताया कि भारतीय संस्कृति में विश्व बंधुत्व और सबके कल्याण का भाव है। सनातन धर्म की परंपराएं ईश्वर तक पहुंचने का सबसे सशक्त माध्यम हैं, जो अध्यात्म से आत्मिक भाव से जोड़ती हैं। वेद, पुराण, गीता और रामायण जैसे ग्रंथों में जीवन का सार हैं, इसलिए उनका झुकाव सनातन धर्म के प्रति हो गया और उन्होंने इसे अपना लिया है। ची चाउ पाइ उर्फ सीता देवी ने बताया कि उनका जन्म चीन में हुआ था और वह सिंगापुर में रह रही हैं।