ग्राहकों को लगेगा झटका, टाटा, रेनो, होंडा और मारुति बढ़ाने जा रही है कारों के दाम

नई दिल्ली: जो ग्राहक टाटा मोटर्स (Tata Motors), होंडा (Honda), रेनो (Renault) और मारुति (Maruti) कंपनियों की कार खरीदने का ख़्वाब संजोये बैठे हैं, उन्हें इस खबर से झटका लग सकता है। जानकारी के अनुसार ये कंपनियां गाड़ियों की कॉस्टिंग में हुई बढ़ोतरी की वजह से अपने उत्पादों के दाम बढ़ाने जा रही हैं।

बता दें कि बीते एक साल में स्टील, एल्युमीनियम, तांबा, प्लास्टिक और कीमती धातुओं जैसी आवश्यक वस्तुओं की कीमतों में काफी वृद्धि हुई है। इसके अलावा, हाल के दिनों में परिवहन लागत भी बढ़ी है जिससे मूल उपकरण निर्माताओं (ओईएम) की कुल लागत संरचना बुरी प्रभावित हुई है।

कमोडिटी की कीमतों में तेजी को देखते हुए टाटा मोटर्स के पैसेंजर व्हीकल बिज़नेस के प्रेसीडेंट शैलेश चंद्र ने बयान जारी कर कहा है कि, “वस्तुओं, कच्चे माल और अन्य इनपुट लागतों की कीमतों में वृद्धि जारी है। लागत में इस वृद्धि को कम से कम आंशिक रूप से ऑफसेट करने के लिए उचित मूल्य वृद्धि निकट अवधि में अपरिहार्य लगती है।

होंडा कार्स इंडिया भी निकट भविष्य में कीमतों में वृद्धि पर विचार कर रही है, क्योंकि कमोडिटी की कीमतों में वृद्धि के कारण इनपुट लागत पर गंभीर प्रभाव पड़ा है। कंपनी के एक प्रवक्ता ने मीडिया को बताया, ‘हम अभी भी अध्ययन कर रहे हैं कि कीमतों में कितनी बढ़ोतरी की जा सकती है।’

रेनो ने कहा कि वह जनवरी से अपने सभी मॉडल रेंज में “पर्याप्त” मूल्य वृद्धि पर भी विचार कर रही है।

हाल ही में देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति-सुज़ुकी (Maruti Suzuki) ने एक आधिकारिक बयान में, कहा है कि पिछले एक साल में, विभिन्न इनपुट लागतों में वृद्धि के कारण उसके वाहनों की लागत पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है। मारुति सुजुकी ने आगे कहा, “इसलिए, कंपनी के लिए लागत में बढ़ोतरी का कुछ प्रभाव ग्राहकों पर डालना अनिवार्य हो गया है।”

हालांकि अभी तक ऑटोमेकर ये जानकारी सार्वजनिक नहीं की है कि उसकी कौनसी कार की कीमतों में कितनी बढ़ोतरी होगी। लेकिन ये स्पष्ट कर दिया गया है कि विभिन्न कारों की कीमतों में होने वाली वृद्धि भी अलग-अलग होगी।

यह पहली बार नहीं है, जब मारुति सुजुकी ने 2021 में अपनी कारों के दाम बढ़ाए हैं। इस साल की शुरुआत से ही, भारत में सबसे बड़ी कार निर्माता ने कच्चे माल की लागत में वृद्धि और उत्पादन लागत में वृद्धि के कारण अपनी कारों की कीमतों में कई बार बढ़ोतरी की घोषणा की।

इससे पहले इस साल सितंबर में भी मारुति सुजुकी ने अपनी कारों की कीमतों में बढ़ोतरी की घोषणा की थी। तब कार निर्माता ने अपने चुनिंदा मॉडलों की कीमतों में 1.9 प्रतिशत की वृद्धि की, जो 6 सितंबर, 2021 से प्रभावी हो गई। मूल्य वृद्धि मॉडल के आधार पर ₹1,000 से लेकर ₹22,500 तक थी।

ऑटो इंडस्ट्री को पिछले कई महीनों से कड़ी चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। इन चुनौतियों में प्रमुख सेमीकंडक्टर चिप की कमी है जो ऑटो उद्योग को बहुत विपरीत प्रभाव डाल रही है। इसके साथ ही कच्चे माल की बढ़ती कीमतों, कंटेनरों की अनुपलब्धता और उच्च शिपिंग दरों के संदर्भ में लॉजिस्टिक्स को लेकर अनिश्चितता भी उद्योग को प्रभावित कर रही है।

स्टील और मैग्नीशियम जैसे प्रमुख कच्चे माल की उपलब्धता की कमी भी उद्योग को प्रमुख रूप से प्रभावित कर रही है।