गणित का डर दूर करने में पिता ने की मदद: कामना पाठक

मुंबई। ‘हप्पू की उलटन पलटन’ नाटक की अभिनेत्री कामना पाठक ने बताया कि उन्हें राष्ट्रीय गणित दिवस पर सिर्फ गणित के बारे में सोचकर बुरे सपने आते थे। भारत में हर साल 22 दिसंबर को महान गणितज्ञ श्रीनिवास रामानुजन के जन्मदिन के उपलक्ष्य में राष्ट्रीय गणित दिवस मनाया जाता है।

वह कहती है, “मैं आज भी गणित के विषय से बहुत डरती हूं। पूरी दुनिया में केवल मेरे पिता ही मुझे गणित पढ़ा सकते थे। मैंने 10वीं तक जो भी स्कोर किया वह सिर्फ मेरे पिता की वजह से किया था।”

अभिनेत्री ने कहा कि उनके पिता ने उन्हें गणित की अवधारणा को समझने में मदद की।

“वह मुझे घर पर कभी नहीं पढ़ाते नहीं थे। वह हमें खेल के मैदान में ले जाते थे जहां वह जमीन पर पड़ी रेत पर चित्र बनाकर गणित पढ़ाते थे। मैंने स्कूल में गणित के बारे में कुछ भी नहीं सीखा था, मैंने जो कुछ भी सीखा है वह अपने पिता से सीखा है। उनका पढ़ाया हुआ सब कुछ आज भी मेरे दिमाग में ताजा है और मैं उनकी शुक्रगुजार हूं कि मैं उस विषय में कभी असफल नहीं हुई।”