ऐसे हुई भोपाल में शहीद ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह की अगवानी

चंदन तिलक आरती के साथ मां ने द्वार पर किया शहीद की पार्थिव देह का स्वागत

शुक्रवार को राजकीय और सैनिक सम्मान के साथ होगा अंतिम संस्कार

भोपाल। कुन्नूर हेलीकॉप्टर हादसे में चीफ आफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत के साथ शहीद हुए ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह का पार्थिव शरीर गुरुवार को सेना के विशेष विमान से भोपाल लाया गया।

भोपाल एयरपोर्ट पर उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं उनके मंत्रिमंडल के सदस्यों ने पुष्प चक्र अर्पित कर शहीद ग्रुप कैप्टन को श्रद्धांजलि दी। मुख्यमंत्री चौहान यहां शहीद ग्रुप कैप्टन के परिवार के सदस्यों से भी मिले और उन्हें सांत्वना दी।

शहीद वरुण सिंह की पार्थिव देह को फूलों से सजे सेना के विशेष ट्रक से जुलूस के रूप में उनके घर ले जाया गया। मुख्यमंत्री चौहान भी स्टेट हैंगर से ग्रुप कैप्टन के घर की ओर निकली इस यात्रा में सम्मिलित हुए।

ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह का पार्थिव शरीर जब भोपाल में सन सिटी कॉलोनी स्थित उनके घर पहुंचा तो उनकी मां ने तिलक चंदन और आरती कर अपने बेटे की अगवानी की। इस मौके पर ग्रुप कैप्टन वरुण की मां ने अपनी बहू को हिम्मत बनाते हुए कहा कि तू सबसे बड़ी वीरांगना है। कॉलोनी में पार्थिव शरीर को कुछ देर लोगों के दर्शन के लिए रखा गया और फिर सेना के अस्पताल ले जाया गया।

बैरागढ़ विश्राम घाट पर शुक्रवार को होगा अंतिम संस्कार

ग्रुप कैप्टन वरुण का अंतिम संस्कार शुक्रवार सुबह 11 बजे बैरागढ़ स्थित विश्राम घाट पर होगा। जिला प्रशासन ने ग्रुप कैप्टन वरुण के परिवार से अंतिम संस्कार का प्रबंध भदभदा विश्राम घाट पर कराने की बात कही थी लेकिन ग्रुप कैप्टन के पिता ने कहा कि अंतिम यात्रा से शहर का ट्रैफिक बाधित होगा और वह नहीं चाहते कि इससे शहर के लोगों को परेशानी हो, इससे परिवार वरुण का अंतिम संस्कार बैरागढ़ में ही कराना चाहेगा।

पारिवारिक सूत्रों ने बताया कि शुक्रवार को वरुण की अंतिम यात्रा सुबह 11 बजे आरंभ होगी और सनसिटी कॉलोनी और लालघाटी चौराहा होते हुए बैरागढ़ विश्राम घाट पहुंचेगी। ग्रुप कैप्टन वरुण के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए उनके परिवार जन एवं रिश्तेदार उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले से भोपाल पहुंच गए हैं।

मध्य प्रदेश सरकार देगी एक करोड़ की सम्मान निधि

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह के निधन पर शोक जताते हुए कहा है कि शहीद वरुण सिंह का अंतिम संस्कार राजकीय और सैन्य सम्मान के साथ किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि कैप्टन वरुण के परिवार को राज्य सरकार की ओर से एक करोड़ रुपए की सम्मान निधि दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह के परिवार से चर्चा के उपरांत परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी, उनकी मूर्ति स्थापित करने और अन्य विषयों पर चर्चा की जाएगी।