एक ग्रमीण के सामने फटा सीडीएस बिपिन रावत का चॉपर, बताया उसने कि हुआ क्या था?

नई दिल्ली। हेलीकॉप्टर क्रैश के बाद आसपास के गावों में पूछताछ के दौरान कुछ ग्रामीणों ने घटना का आंखों देखा हाल बताया। एक प्रत्यक्षदर्शी ने कहा कि हेलीकॉप्टर काफी नीचे चल रहा था। उसके नीचे घना जंगल था। बड़े-बड़े पेड़ थे। तभी हेलीकॉप्टर एक कटहल के पेड़ से टकराकर ब्लास्ट हो गया।

बताया जा रहा है कि चॉपर का हेलीपैड से 10 मिनट की दूरी पर था। संभावना जताई जा रही है कि हेलीपैड के नजदीक होने के कारण चॉपर नीचे उड़ रहा था। बताया जा रहा है कि घने जंगल और विजिबिलिटी की वजह से ये हादसा हुआ है।

भारतीय वायु सेना ने ट्विट कर बताया कि सीडीएस बिपिन रावत नील गिरी हिल्स स्थित डिफेंस सर्विसेज स्टॉफ कॉलेज में छात्र और अधिकारियों को संबोधित करने जा रहे थे। तमिलनाडु में हुए हेलीकॉप्टर क्रैश में सीडीएस बिपिन रावत की पत्नी की मौत हो गई है।

बता दें कि सेना का हेलीकॉप्टर MI-17 V5 बुधवार दोपहर को दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। इस हेलीकॉप्टर में देश के पहले सीडीएस बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत समेत 14 लोग मौजूद थे।

जनरल एमएम नरवणे और भारतीय सेना के सभी रैंकों ने आज एक दुर्भाग्यपूर्ण हवाई दुर्घटना में जनरल बिपिन रावत, चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ, श्रीमती मधुलिका रावत, अध्यक्ष डीडब्ल्यूडब्ल्यूए और 11 अन्य सैन्य कर्मियों के असामयिक निधन पर गहरा दुख और दुख व्यक्त किया है”

हेलीकॉप्टर में ब्रिगेडियर एलएस लिद्दर, लेफ्टिनेंट कर्नल हरजिंदर सिंह, नायक गुरसेवक सिंह, नायक जितेंद्र कुमार, लांस नायक विवेक कुमार, लांस नायक बी. साई तेजा और हवलदार सतपाल के अलावा 5 लोग और थे।