रोहिणी कोर्ट ब्लास्ट मामले में गिरफ्तार DRDO वैज्ञानिक हार्पिक पीकर सुसाइड का प्रयास किया

नई दिल्ली: रोहिणी कोर्ट में IED ब्लास्ट मामले में गिरफ्तार डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (DRDO) के वैज्ञानिक भारत भूषण कटारिया ने दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल की हिरासत में हार्पिक पीकर खुदकुशी की कोशिश की है.

सूत्रों के मुताबिक दिल्ली पुलिस वैज्ञानिक को पहले अंबेडकर अस्पताल और फिर एम्स ले गई। पुलिस सूत्रों ने कहा कि वैज्ञानिक पूरी तरह से ठीक है.

आगे पुलिस सूत्रों ने बताया कि कटारिया पूछताछ के दौरान लगातार पुलिस को गुमराह कर रहे हैं. यह पूछे जाने पर कि क्या वह वकील के वेश में थे, जैसा कि सीसीटीवी फुटेज में कैद है, वैज्ञानिक ने कहा, “यह मेरे जैसा दिखता है.

जब पुलिस ने उससे पूछा कि विस्फोट के बाद वह कहां है तो उसने कहा कि मुझे कुछ भी याद नहीं है. पुलिस को संदेह है कि वैज्ञानिक ने रोहिणी जिला अदालत में घटना की योजना बनाई थी और यह भी तैयार था कि अगर वह पकड़ा गया तो क्या किया जाए.

इस महीने की शुरुआत में, रोहिणी जिला अदालत के अंदर एक कम-तीव्रता वाला विस्फोट हुआ था. दिल्ली पुलिस ने इस मामले में रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) के वैज्ञानिक भारत भूषण कटारिया को गिरफ्तार किया है.

पुलिस को संदेह है कि वैज्ञानिक ने रोहिणी जिला अदालत में घटना की योजना बनाई थी और यह भी तैयार था कि अगर वह पकड़ा गया तो क्या किया जाए.
जांचकर्ताओं ने पाया कि आरोपी अधिवक्ता अमित वशिष्ठ को मारना चाहता था, जिसके साथ वह लंबे समय से कानूनी लड़ाई में लगा हुआ था. वकील ने आरोपियों के खिलाफ सात मामले दर्ज किए थे जबकि कटारिया ने वकील के खिलाफ पांच मामले दर्ज किए थे. वकील, जो तीन साल पहले तक भूषण के पड़ोसी भी थे, ने उनके खिलाफ सतर्कता शिकायत भी दर्ज कराई थी.