प्रधानमंत्री ने भाजपा सांसदों को चेताया काम नही करेंगे तो कट जाएगा टिकिट

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी की संसदीय बोर्ड की मीटिंग में मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पार्टी सांसदों को नसीहत देते हुए अनुशासन का पाठ पढ़ाया। सदन से अक्सर गायब रहने वाले सांसदों से उन्होंने कहा कि आप लोग खुद को बदलिए नहीं तो हमें बदलाव करना पड़ेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कड़े लहजे में कहा कि सभी को अनुशासन में रहना चाहिए, सदन में समय से आना चाहिए और अपनी बारी आने पर ही बोलना। साथ ही यह भी कहा कि बच्चों की तरह बर्ताव करना उचित नही है।

आपको बच्चों की तरह ट्रीट करूं, ये अच्छा नहीं
मोदी ने कहा कि संसद की कार्यवाही और बैठकों में नियमित रहें और लोगों के हित में काम करें। उन्होंने कहा कि यह मेरे लिए और आपके लिए भी अच्छा नहीं है कि मैं आपकी अनुशासनहीनता को लेकर परेशान रहूं और आपको बच्चों की तरह ट्रीट करूं। बच्चों को भी एक ही बात कई बार कही जाए तो उन्हें पसंद नहीं आती है।

सूर्य नमस्कार करने की सलाह दी
प्रधानमंत्री ने सांसदों को सूर्य नमस्कार करने की सलाह देते हुए कहा कि आप सभी सूर्य नमस्कार करें और संसद में अटेंडेंस कॉम्पटीशन में हिस्सा लें। इससे आप सभी स्वस्थ रहेंगे। इससे पहले बैठक शुरू होने पर पीएम मोदी का सम्मान किया गया। यह सम्मान उन्हें 15 नवंबर को बिरसा मुंडा के जन्मदिवस को जनजातीय गौरव दिवस के रूप में मनाने का ऐलान करने के लिए किया गया। बैठक में गृह मंत्री अमित शाह, वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल, विदेश मंत्री एस जयशंकर और संसदीय कामकाज के मंत्री प्रह्लाद जोशी मौजूद थे।