Breaking: भारत में ओमिक्रॉन के मामले बढ़े, चौथा मामला मुंबई में मिला

मुंबई। दक्षिण अफ्रीका से दिल्ली के रास्ते मुंबई पहुंचे एक 33 साल का युवक कोरोना पॉजिटिव मिला था। जब उसके जीनोम सिक्वेंसिंग कराई गई तो होश उड़ा देने वाला रिजल्ट आया है। युवक ओमिक्रॉन वैरिएंट से पॉजिटिव है। उसके साथ सफर करने पाले 25 यात्रियों की कोरोना टेस्ट निगेटिव आई है।

महाराष्ट्र स्वास्थ्य विभाग के निदेशक ने बताया कि विदेश से मुंबई के पास कल्याण डोंबिवली नगरपालिका क्षेत्र में लौटने वाले 33 साल के व्यक्ति में ओमिक्रॉन की पुष्टि हुई है। गुजरात में ओमिक्रॉन का पहला केस मिलने से हड़कंप मच गया है। जामनगर में पहला केस मिला है। जिम्बाबवे से जामनगर आए शख्स के कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद उसका जीनोम सिक्वेंस के लिए भेजा गया था।

इधर ओमिक्रॉन को लेकर डब्ल्यूएचओ ने इससे न घबराने की सलाह दी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुख्य वैज्ञानिक ने कहा कि यह कहना जल्दबाजी होगी कि क्या टीकों पर फिर से काम करने की आवश्यकता होगी।

रॉयटर्स नेक्स्ट कॉन्फ्रेंस में एक साक्षात्कार में बोलते हुए, सौम्या स्वामीनाथन ने कहा कि यह भविष्यवाणी करना असंभव था कि क्या ओमिक्रॉन प्रमुख तनाव बन जाएगा। स्वामीनाथन ने दक्षिण अफ्रीका के आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा कि मामलों की संख्या प्रतिदिन दोगुनी हो रही है। “हमें कितना चिंतित होना चाहिए? हमें तैयार रहने और सतर्क रहने की जरूरत है, घबराने की नहीं, क्योंकि हम एक साल पहले की स्थिति से अलग हैं।