मध्यप्रदेश में पंचायत चुनावों का ऐलान

3 चरणों में 6 और 28 जनवरी तथा 16 फरवरी को पड़ेंगे वोट

13 दिसंबर से शुरू होगी नामांकन पत्र भरने की प्रक्रिया, चुनाव आचार संहिता लागू

भोपाल। मध्यप्रदेश में त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया गया है। ये चुनाव तीन चरणों में होंगे। पहले चरण के लिए अगले साल 6 जनवरी को दूसरे चरण के लिए 28 जनवरी को और तीसरे चरण के लिए 16 फरवरी को वोट डाले जाएंगे।

राज्य निर्वाचन आयुक्त बसंत प्रताप सिंह ने उक्त जानकारी देते हुए बताया कि पंचायत चुनावों की घोषणा होते ही प्रदेश में चुनाव आचार संहिता लागू हो गई है। उन्होंने बताया कि इस बार राजधानी भोपाल, इंदौर और ग्वालियर समेत नौ जिलों में एक ही चरण में वोटिंग होगी, जबकि 7 जिलों में दो चरणों में वोट डाले जाएंगे। शेष 36 जिलों में 3 चरणों में मतदान होगा। उन्होंने बताया कि पंचायत चुनाव के लिए सुबह 7 बजे से दोपहर 3 बजे तक वोट डाले जाएंगे।

राज्य निर्वाचन आयुक्त में बताया कि पंचायत चुनाव दलीय आधार पर नहीं होंगे तथा इसमें किसी भी राजनीतिक दल के चुनाव चिन्ह का उपयोग नहीं होगा। उन्होंने स्पष्ट किया कि इसके लिए आयोग अलग से चुनाव चिन्ह जारी करेगा।

राज्य निर्वाचन आयुक्त ने बताया कि 9 जिलों में एक ही दिन में मतदान होगा। इन 9 जिलों में राजधानी भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, निवाड़ी, अलीराजपुर, पन्ना, नरसिंहपुर, हरदा और दतिया शामिल हैं। राज्य के 7 जिलों सिंगरौली, उमरिया, जबलपुर, बुरहानपुर, अनूपपुर, देवास और शिवपुर में दो चरण में वोट डाले जाएंगे। घोषित कार्यक्रम के अनुसार 36 जिलों में 3 चरणों में मतदान होगा। ये जिले हैं राजगढ़, रायसेन, सीहोर, विदिशा, खरगोन, खंडवा, धार, झाबुआ, बड़वानी, गुना, शिवपुरी, अशोकनगर, छिंदवाड़ा, सिवनी, बालाघाट, मंडला, डिंडोरी, कटनी, उज्जैन, नीमच, रतलाम, शाहजहांपुर, आगर मालवा, मंदसौर, होशंगाबाद, बैतूल, शहडोल, भिंड, मुरैना, सागर, छतरपुर, रीवा टीकमगढ, दमोह, सीधी और सतना शामिल हैं।

राज्य निर्वाचन आयुक्त ने पंचायत चुनाव प्रक्रिया की जानकारी देते हुए बताया कि पंच और सरपंच पद के उम्मीदवारों को निर्वाचन कार्यालय में जाकर फार्म जमा कराने होंगे, जबकि जिला पंचायत के लिए आनलाइन पर्चे भरे जा सकेंगे। उन्होंने बताया कि जिला और जनपद सदस्यों के लिए वोटिंग ईवीएम के जरिए कराई जाएगी, जबकि ग्राम पंचायत स्तर पर मतपत्र के द्वारा वोट डलवाए जाएंगे। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 22695 ग्राम पंचायतों के लिए चुनाव करवाए जा रहे हैं। इस काम के लिए 71398 मतदान केंद्र बनाए जाएंगे।

राज्य निर्वाचन आयुक्त ने बताया कि प्रदेश में कुल 3 करोड़ 92 लाख 51 हजार 811 मतदाता हैं, इनमें दो करोड़ दो लाख 30 हजार 95 पुरुष और एक करोड़ 90 लाख 20 हजार 672 महिला मतदाता हैं। राज्य में 1044 अन्य मतदाता हैं। श्री सिंह ने बताया कि पंचायत चुनाव को संपन्न कराने के लिए 4 लाख 25 हजार कर्मचारियों को तैनात किया जाएगा।