गोरखपुर। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव काफी करीब है। ऐसे में सरकार की तरफ से सौगात देने का सिलसिला जारी है। हाल ही में गौतमबुद्ध नगर के जेवर में अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट की सौगात देने और लखनऊ से गाजीपुर तक पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे देने के बाद अब पीएम मोदी गोरखपुर को खाद का कारखाना और AIIMS का तोहफा देने जा रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज हिंदुस्तान उर्वरक एवं रसायन लिमिटेड (एचयूआरएल), अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) और रीजनल मेडिकल सेंटर की सौगात गोरखपुर वासियों को देंगे। इस दौरान उनके साथ मुख्यमंत्री योगी भी मौजूद रहेंगे। सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि प्रधानमंत्री द्वारा लोकार्पित यह सभी परियोजनाएं आत्मनिर्भर भारत को खाद्य सुरक्षा तथा स्वास्थ्य सुरक्षा प्रदान करने में महत्वपूर्ण योगदान करेंगी। 598 एकड़ में स्थापित खाद कारखाने की लागत 8,603 करोड़ रुपए है। इस संयंत्र की क्षमता 2,200 मीट्रिक टन लिक्विड अमोनिया तथा 3,850 मीट्रिक टन नीम कोटेड यूरिया प्रतिदिन है। यह खाद कारखाना 12.7 लाख मीट्रिक टन प्रिल्ड नीम कोटेड यूरिया का वार्षिक उत्पादन करेगा।

प्रवक्ता ने बताया कि अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) की अनुमोदित लागत 1,011 करोड़ रुपए है। इसकी स्थापना 112 एकड़ क्षेत्र में की जा रही है। इस उच्चस्तरीय विशेषज्ञ चिकित्सा संस्थान के माध्यम से मरीजों को उत्कृष्ट चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध करायी जाएंगी। गोरखपुर एम्स 14 अत्याधुनिक मॉड्यूलर ऑपरेशन थिएटर, उच्च श्रेणी के नवीनतम सी.टी., एम.आर.आई., डायलिसिस मशीन, सी-आर्म मशीन सहित अनेक मेडिकल उपकरणों एवं सुविधाओं से युक्त है।

प्रवक्ता ने बताया कि गोरखपुर में स्थापित किए जा रहे आई.सी.एम.आर.-रीजनल मेडिकल रिसर्च सेंटर, इंसेफेलाइटिस, डेंगू, चिकुनगुनिया, कालाजार सहित कोविड-19 जैसी बीमारी के वायरस की पहचान करने तथा उसके उपचार के लिए अनुसंधान को आगे बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।