कोविड टास्क फोर्स के चीफ बोले, ओमिक्रॉन पर वैक्सीन बेअसर हो सकती है

 नई दिल्ली। कोविड टास्क फोर्स के भारत के चीफ डॉक्टर वीके पॉल ने कहा है कि देश को ऐसे वैक्सीन प्लेटफॉर्म तैयार करने चाहिए, जिनमें वायरस के बदलते वैरिएंट के मुताबिक तेजी से बदलाव किए जा सकें। कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट के फैलने की चिंता के बीच डॉ. पॉल ने बुधवार को कहा कि भारत में वायरस उस स्टेज की तरफ बढ़ता जा रहा है, जब उससे कम या मध्यम संक्रमण फैलता है। इस स्थिति को एंडेमिसिटी कहा जाता है।

डॉ. पॉल ने कहा, ऐसी परिस्थिति भी बन सकती है कि वायरस के सामने हमारी वैक्सीन असरदार न रहें। पिछले तीन हफ्ते में ओमिक्रॉन के साथ रहते हुए हमने देखा है कि ऐसे हालात बने हैं। इनमें से कुछ मामले सही भी हो सकते हैं। हालांकि अभी तक हमारे पास इसकी पूरी जानकारी नहीं है, इसलिए वैक्सीन के बेअसर होने के बारे में पुख्ता तौर पर कुछ नहीं कहा जा सकता। हालांकि, उन्होंने चेतावनी दी कि वायरस को हल्के में नहीं लेना चाहिए।

जरूरत के हिसाब से वैक्सीन को मॉडिफाई करना होगा

पॉल ने कहा कि फ्लू जैसी दिक्कतों का सामना भारत हर साल ही कर रहा है। उन्होंने कहा, हम कितनी जल्दी ऐसी वैक्सीन बना सकते हैं जिसमें एक ही प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल हो, लेकिन वह नए वैरिएंट पर असरदार हो। हमें उस हालात के लिए खुद को तैयार करना होगा जब हम जरूरत के हिसाब से टीके में बदलाव कर पाएं। यह हर तीन महीने में नहीं हो सकता, लेकिन शायद हर साल हो सकता है।

कोरोना ने सिखाया कि वायरस को हल्के में लें

पॉल ने कहा कि कोरोना ने सिखाया है कि वायरस को हल्के में नहीं लिया जा सकता है। उन्होंने कहा कि हेल्थ को लेकर जो अनिश्चितता बन रही है, उस पर ध्यान देना चाहिए। उन्होंने कहा कि महामारी खत्म नहीं हुई है। हम अनिश्चितता से निपटना जारी रखेंगे। भले ही हम एंडेमिसिटी की उम्मीद कर रहे हैं, जो कि एक हल्की बीमारी होगी जिसका हम सामना कर लेंगे।

भारत में ओमिक्रॉन के केस बढ़कर 61 हुए
कोरोना का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन भारत में भी तेजी से फैलता दिख रहा है। मंगलवार सुबह दिल्ली में 4 नए केस मिलने के बाद शाम को महाराष्ट्र में भी इसके 8 नए मामले सामने आए हैं। आज संक्रमित हुए 8 में से 7 मरीज मुंबई से और एक वसई-विरार से है। खास बात यह है कि इनमें से कोई भी विदेश नहीं गया था। अब देशभर में नए वैरिएंट के केस बढ़कर 61 हो गए हैं।

 महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा केस

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी की रिपोर्ट के मुताबिक महाराष्ट्र में अब तक 28 लोग ओमिक्रॉन से संक्रमित हो चुके हैं। इनमें मुंबई में 12, पिंपरी चिंचवाड़ा में 10, पुणे में 2, कल्याण-डोंबीवली, नागपुर, लातूर और वसई