कोरोना के चलते राजधानी दिल्ली में क्रिसमस और न्यू ईयर के जश्न पर रोक

नई दिल्ली। कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों के चलते दिल्ली की सरकार ने बुधवार को क्रिसमस और न्यू ईयर सेलिब्रेशन पर रोक लगा दी है। हालांकि बार और सिनेमाघर भी 50 प्रतिशत कैपेसिटी के साथ ही खुलेंगे। इसके अलावा भीड़ के इकट्ठा होने और सांस्कृतिक कार्यक्रमों के आयोजन पर भी रोक लगा दी गई है। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (DDMA) ने नए निर्देश जारी कर दिए हैं।

दिल्ली पुलिस और प्रशासन को निर्देश दिया गया है कि गाइड लाइन का सख्ती से पालन कराया जाए। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की इतनी सख्ती के बावजूद दिल्लीवाले कोरोना गाइडलाइन का ध्यान नहीं रख रहे हैं। यहां के एक मार्केट का वीडियो सामने आया है, जहां सस्ते कंबल खरीदने के लिए इतनी भीड़ उमड़ी कि पैर रखने की जगह नहीं बची। लोग एक-दूसरे के ऊपर गिरते नजर आए हैं।

दिल्ली में बुधवार को 24 घंटे के अंदर कोरोना के 125 मामले दर्ज किए गए हैं। यह पिछले 6 महीने में सबसे ज्यादा हैं। दिल्ली में इस समय कोरोना के 624 एक्टिव केस हैं। पिछले पांच महीनों में यह सबसे ज्यादा हैं। राजधानी में पॉजिटिविटी रेट 0.2 फीसदी और रिकवरी दर 98.21 फीसदी है। बीते दिन 58 कोरोना मरीज ठीक हुए हैं। कोरोना की शुरुआत से लेकर अब तक कोरोना के दिल्ली में 14,42,515 मामले सामने से दिल्ली में 25,102 लोगों की मौत हो चुकी है।

DDMA ने मार्केट ट्रेड एसोसिएशन को दुकानों पर “नो मास्क, नो एंट्री” लागू करने का आदेश दिया गया है। दिल्ली के हेल्थ मिनिस्टर सत्येंद्र जैन ने बुधवार को जानकारी दी है कि राजधानी में 400-500 सैंपल के जीनोम सिक्वेंसिंग की क्षमता है। आज से सभी कोरोना संक्रमितों की जीनोम सिक्वेंसिंग की जाएगी, ताकि ओमिक्रॉन के नए वैरिएंट के स्तर का सही पता लगाया जा सके।