देश की पहली हरित हाइड्रोजन आधारित माइक्रोग्रिड परियोजना की आंध्र में शुरुआत

एनटीपीसी ने कहा, यह दुनिया की सबसे बड़ी ग्रीन हाइड्रोजन आधारित ऊर्जा भंडारण परियोजना होगी

नई दिल्ली। सार्वजनिक क्षेत्र की बिजली कंपनी राष्ट्रीय ताप विद्युत निगम (एनटीपीसी) ने बुधवार को आंध्र प्रदेश के सिम्हाद्री में एकल ईंधन सेल आधारित हरित हाइड्रोजन माइक्रो ग्रिड परियोजना का शुभारंभ किया। यह देश की पहली और दुनिया की सबसे बड़ी हरित हाइड्रोजन आधारित ऊर्जा परियोजना होगी।

एनटीपीसी ने बुधवार को जारी एक विज्ञप्ति में यह जानकारी देते हुए बताया कि देश के महत्वपूर्ण स्थानों और ऐसे समय जहां ग्रिड की पहुंच नहीं है वहां माइक्रोग्रिड की स्थापना के लिए यह परियोजना उपयोगी साबित होगी एनटीपीसी ने बताया कि इस परियोजना के तहत निकट स्थित एक जलाशय में तैरता हुआ सोलर प्लांट लगाया गया है, जिससे बिजली लेकर हाइड्रोजन का उत्पादन किया जाएगा।

विज्ञप्ति के अनुसार इस परियोजना से  साैर ऊर्जा  संग्रहित की जाएगी, जिसका बाद में उपयोग किया जाएगा। एनटीपीसी द्वारा तैयार इस परियोजना से लद्दाख तथा जम्मू कश्मीर जैसे दूरस्थ क्षेत्रों को कार्बन उत्सर्जन से मुक्त रखने में मदद मिलेगी। इन क्षेत्रों में अब तक इस काम के लिए डीजल चलित जनरेटरों का उपयोग किया जाता है।

एनटीपीसी की विज्ञप्ति के अनुसार इस परियोजना की रूपरेखा उसने इन हाउस डिजाइन की है और इससे देश में कार्बन उत्सर्जन को कम करने में मदद मिलेगी। एनटीपीसी के अनुसार यह परियोजना प्रधानमंत्री के साल 2070 तक देश को कार्बन न्यूट्रल जोन बनाने के लक्ष्य को ध्यान में रखकर बनाई गई है।