IMA ने चेताया, ओमिक्रॉन को लेकर फौरन जरूरी कदम उठाए सरकार

नई दिल्ली। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA)ने देश में ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों को लेकर चिंता जताई है। आईएमए ने सरकार को चेताया है कि कोरोना वॉरियर्स के लिए वैक्सीन की अरिरिक्त डोज मुहैया कराई जायें। देश में ओमिक्रॉन के अब तक 21 केस मिल चुके हैं। आईएमए ने कहा कि ओमिक्रॉन की संक्रमण दर काफी तेज है। समय रहते जरूरी कदम नहीं उठाये गए तो कोरोना की खतरनाक तीसरी लहर आ सकती है।

देश के 85% यूथ को वैक्सीन की एक डोज लगी
देश के 85% युवाओं को कोरोना वैक्सीन की कम से कम एक डोज लग चुकी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने ट्वीट करके इसकी जानकारी दी है। इसके साथ ही 50 प्रतिशत युवा फुली वैक्सीनेटेड हो चुके हैं। देश में अब तक 1 करोड़ 28 लाख टीके लगाए जा चुके हैं।

MP में 16 नए केस, सबसे ज्यादा 8 इंदौर में

मध्य प्रदेश में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। 24 घंटे में 16 नए पॉजिटिव केस मिले हैं। 10 दिनों के बाद इंदौर में सबसे ज्यादा 8 कोरोना के मामले सामने आए हैं। भोपाल में 6 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। वहीं कोरोना संक्रमित एक महिला की मौत हो गई है। जबकि जबलपुर में 2 नए केस आए हैं। जबलपुर टूरिज्म प्रमोशन ऑफ काउंसिल के सीईओ हेमंत सिंह के बेटे की शादी में आया जर्मन युवक कोरोना पॉजिटिव निकला है। रिसेप्शन में 2000 लोग शामिल हुए थे। प्रदेश में सोमवार को 13 मरीज ठीक भी हुए। इसके साथ ही एक्टिव मरीजों की संख्या 140 हो गई है।

देश में सोमवार को मिले 6,822 कोविड केस

देश में सोमवार को कोरोना के 6,822 नए केस मिले। पिछले 558 दिनों में नए संक्रमितों की यह सबसे कम संख्या है। हालांकि सोमवार को 220 कोविड मरीजों की मौत हुई और 10,004 लोग रिकवर हुए। फिलहाल देश में 95,014 एक्टिव केस हैं, जो कि 554 दिनों में सबसे कम हैं। देश में इस महामारी के खिलाफ वैक्सीनेशन कैंपेन जारी है। अब तक 1 करोड़ 28 लाख अरब टीके लगाए जा चुके हैं।

बेंगलुरु के डॉक्टर की रिपोर्ट आई पॉजिटिव
बेंगलुरु में मिले ओमिक्रॉन संक्रमित डॉक्टर की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट फिर से पॉजिटिव आई है। डॉक्टर में संक्रमण की पुष्टि होने के सात दिन बाद दोबारा आरटी-पीसीआर टेस्ट हुआ था जिसमें भी वे पॉजिटिव पाये गए। अब सात दिन तक और उन्हें निगरानी में रखा जाएगा। इसके बाद एक बार फिर से उनकी कोरोना जांच होगी। आरटी-पीसीआर टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आने पर ही उसे डिस्चार्ज किया जाएगा। आपको बता दें कि कर्नाटक में ही देश के पहले दो ओमिक्रॉन केस मिले थे।