सीडीएस जनरल बिपिन रावत की शहादत पर दुर्भावनापूर्ण वीडियो प्रसारित करने पर एनटीके नेता को जेल

चेन्नई: देश के पहले सीडीएस जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी समेत 13 सेना अधिकारियों की शहादत पर तमिलनाडु के एक एनटीके नेता ने दुर्भावना पूर्ण वीडियो प्रसारित कर दिया. उन्हें सोशल मीडिया में ऐसा वीडियो प्रसारित करने के आरोप गिरफ्तार कर लिया गया हैं.

तमिलनाडु के पुदुकोट्टई जिले की कीरनूर पुलिस ने नाम तमिलर काची (एनटीके) के एक स्थानीय स्तर के पदाधिकारी को सोशल मीडिया पर भारतीय वायुसेना के हेलीकॉप्टर दुर्घटना से जुड़े एक ‘दुर्भावनापूर्ण’ वीडियो प्रसारित (सर्कुलेटिंग) करने के आरोप में गिरफ्तार किया है.

तमिलनाडु में कुन्नूर के पास 8 दिसंबर को हुई हेलीकॉप्टर दुर्घटना में जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी मधुलिका रावत और अन्य 11 सशस्त्र बलों के जवानों की मौत हो गई थी.

एनटीके नेता बालासुब्रमण्यम (32) को कोट्टुकरनपट्टी के भाजपा पदाधिकारी के. राजेंद्रन की शिकायत के बाद गिरफ्तार किया गया था। उसे न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश किया गया और न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.

बालासुब्रमण्यम, जो विरालीमलाई विधानसभा क्षेत्र में एनटीके के प्रवक्ता हैं, पर धर्म, जाति, जन्म स्थान और निवास पर विभिन्न समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देने के लिए सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) अधिनियम और आईपीसी की अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है.

शिकायतकर्ता के अनुसार, एनटीके नेता ने एक वीडियो पोस्ट किया था, जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को भी भारतीय वायुसेना के हेलिकॉप्टर दुर्घटना से लिंक किया था. भाजपा नेता ने अपनी शिकायत में कहा कि एनटीके नेता की यह हरकत देश की संप्रभुता के खिलाफ है.