इंदौर को मिला 5 करोड़ का अवार्ड, इंदौर सफाई में छक्का मारेगा: सीएम

इंदौर। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार को इंदौर स्वच्छता सर्वेक्षण-2021 के राज्यस्तरीय सम्मान समारोह में कहा कि मुझे विश्वास है कि इंदौर छक्का मारेगा। मुख्यमंत्री इंदौर में आज स्वच्छता सर्वेक्षण-2021 के सराहनीय काम करने वाले नगरीय नकायों को बतौर मुख्यअतिथि पुरस्कार वितरित कर रहे थे।

इस मौके पर सीएम ने कहा, मध्यप्रदेश को स्वच्छता में अद्भुत गौरव प्राप्त हुआ है। हमारा इंदौर मध्यप्रदेश ही नहीं, पूरे देश की शान है। मुझे विश्वास है कि इंदौर छक्का मारेगा। उन्होंने कहा कि भोपाल जैसे शहरों में हर कहीं दीवारों पर चूना लगा रहता था। 2014 से पहले यही स्थिति इंदौर की भी थी, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी ने सबकी सोच बदल दी। अब लोग कागज का टुकड़ा भी फेंकते नहीं, जेब में रख लेते हैं और जहां डस्टबिन होती है वहीं जाकर फैंकते हैं।

हर शहर का अपना अलग-अलग इतिहास है। हम शहर का साल में 1 दिन जन्मदिवस अवश्य मनाएं। इसका उद्देश्य यह होगा कि उस दिन के लिए हम शहर को स्वच्छ बनाएं-सजाएं। सभी विशिष्ट व्यक्तियों को एकत्र कर शहर के विकास में उनकी भूमिका तय करें।

इससे पहले मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में सीवर एंड सेफ्टी टैंक पत्रिका का विमोचन किया। मुख्यमंत्री ने सबसे पहले इंदौर नगर निगम को साफ-सफाई में 5वीं बार नंबर-1 आने पर पुरस्कृत किया।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने मंच के सामने बैठे इंदौर डेवलपमेंट अथॉरिटी (आईडीए) के चेयरमैन जयपाल सिंह चावड़ा को नाम लेकर आवाज दी और बुलाकर मंच पर बैठाया। सीएम ने उनसे कहा, आप तो मंच पर आ जाओ। मुख्यमंत्री ने लोगों से अपने-अपने शहरों का जन्मदिन मनाने के लिए भी कहा और शपथ दिलाई कि हम शहरों को सफाई में नंबर-1 बनाएंगे।

इंदौर को 5 करोड़, भोपालदेवास को 1 करोड़ का पुरस्कार

इंदौर निगम को 5 करोड़ रुपए का पुरस्कार मिला। भोपाल नगर निगम को 1 करोड़, देवास नगर निगम को भी 1 करोड़ और ग्वालियर, उज्जैन, सिंगरौली व बुरहानपुर को 50-50 लाख रुपए से पुरस्कृत किया। मुख्यमंत्री ने देवास के अशासकीय शिक्षण संगठन के राजेश खत्री से वर्चुअल बात की। बधाई दी कि आपने बच्चों को स्वच्छता से जोड़ा। बूंदी की रमाबाई और सागर की सनराइज टाउनशिप टीम से भी वर्चुअल बात की।

मुख्यमंत्री ने 36 निकायों का सम्मान किया। मंच पर मंत्री तुलसी सिलावट, उषा ठाकुर, भूपेंद्र सिंह, ओपीएस भदौरिया, सांसद शंकर लालवानी, विधायक मालिनी गौड़, विधायक महेंद्र, देवेंद्र वर्मा, नारायण सिंह, विधायक आकाश विजयवर्गीय और कलेक्टर मनीष सिंह मौजूद रहे।