नई शिक्षा नीति एवं भविष्य की आवश्यकताओं के अनुसार कार्ययोजना बनाई जाए

एनआईटीटीटीआर भोपाल एकेडेमिक कौंसिल की बैठक में हुए महत्वपूर्ण निर्णय

सारांश न्यूज डेस्क, भोपाल
एनआईटीटीटीआर भोपाल NITTTR Bhopal में एकेडेमिक कौंसिल (अकादमिक परिषद् ) की महत्वपूर्ण बैठक Academic Council meeting शुक्रवार को हुई। निदेशक प्रो. सीसी त्रिपाठी ने बताया की इस बैठक में निटर की भावी अकादमिक कार्ययोजना से संबंधित महवपूर्ण निर्णय लिए गए। जिनमें देश के जाने माने शिक्षाविदों एवं निटर फैकल्टी मेंबर्स के सुझाव शामिल हैं। बैठक में सभी ने एक मत से इस विषय पर सहमति जताई कि, हमारे समृद्ध एवं स्वर्णिम अतीत एवं भविष्य की आवश्यकताओं के बीच संतुलन हो एवं नई शिक्षा नीति को केंद्र में रखते हुए हुए कार्य कार्ययोजना बनाई जाए।

बैठक में संस्थान के नए प्रशिक्षण कार्यक्रम जिनमें प्राइवेट संस्थानों के शिक्षकों के लिए प्रशिक्षण, सेंटर ऑफ़ एक्सपीरिएंशल लर्निंग की स्थापना, निटर उत्कृष्तता केंद्र द्वारा आयोजित किए जाने वाले डिप्लोमा एवं सर्टिफिकेट प्रोग्राम, निटर के फैकल्टी के लिए विभिन्न एरिया में अवार्ड्स प्रारम्भ करना, इनोवेशन एवं स्टार्टअप पॉलिसी, निटर के कार्यक्रमों के लिए डिजिटल प्लेटफार्म का निर्माण, प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना के अंतर्गत प्रशिक्षण कार्यक्रम, नई फैकल्टी की नियुक्तियों, आईपीआर नीति, स्टूडेंट्स के लिए इंटर्नशिप, आज़ादी का अमृत महोत्सव“ पर व्याख्यान माला में देश के प्रख्यात विशेषज्ञों को आमंत्रित करना आदि महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए।

इस अवसर पर घनश्याम पंडया कमिश्नर टेक्निकल एजुकेशन, गुजरात ने गुजरात राज्य में तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में किए जा रहे नवाचार पर प्रेजेंटेशन दिया। इस अवसर पर निटर एवं सिपेट भोपाल के बीच एक मत्वपूर्ण समझौते पर भी हस्ताक्षर किए गए। भविष्य में NITTTR भोपाल देश के विभिन्न संस्थानों के साथ कई अन्य समझौते पर भी हस्ताक्षर करेगा।

बैठक में प्रोफेसर केएन सिंह कुलपति सेंट्रल यूनिवर्सिटी गया, प्रोफेसर विनोद कुमार कनौजिआ, प्रोफेसर आशुतोष कुमार सिंह एनआईटी कुरुक्षेत्र, केके अरोरा, प्रोफेसर सुधीर भदोरिया, प्रोफेसर अनिल कोठारी, प्रोफेसर धर्मेंद्र सिंह आईआईटी रुड़की, प्रोफेसर शशि रंजन अकेला, प्रोफेसर सथंस सुहाग, डॉ अविनाश श्रीवास्तव डायरेक्टर एम्प्री भोपाल, प्रोफेसर रमेश चंद रमोला, प्रोफेसर सीमा सिंह कुलपति राजर्षि टंडन मुक्त विश्वविद्यालय, प्रोफेसर घनश्याम पंडया कमिश्नर टेक्निकल एजुकेशन, गुजरात, प्रोफेसर शिशिर सिंहम सहित आमंत्रित सदस्य उपस्थित उपस्थित थे।