मध्यप्रदेश की राजधानी समेत कई जिलों में हुई बारिश, कड़ाके की ठंड के बड़े आसार

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में सुबह-सुबह हुई बारिश ने मौसम में और ठंडक घोल दी है। वैसे तो पहले से ही भोपाल में ठंडी हवाओं ने डेरा डाला हुआ है, लेकिन बारिश के बाद शीत लहर के चलने और मौसम में कंपकंपाती ठंड बढ़ने की संभावना बढ़ गई है। बारिश का कारण पाकिस्तान में आए पश्चिमी विक्षोभ को माना जा रहा है।

भोपाल के अलावा राजगढ़, सीहोर, रायसेन, विदिशा, अशोकनगर, छतरपुर में भी सुबह 7 बजे से रुक-रुककर बारिश हो रही है। सागर, होशंगाबाद, मुरैना, आगर मालवा, दमोह में भी सुबह से बारिश रुक-रुक कर हो रही है। शिवपुरी के कोलारस में एक दिन में ही एक इंच बरसात हो गई।

मध्य प्रदेश के ज्यादातर हिस्सों में बादल छाए हुए हैं। मौसम वैज्ञानिक वेद प्रकाश सिंह के मुताबिक उत्तर में काफी बर्फबारी की वजह से प्रदेश के ज्यादातर इलाकों में हल्की बारिश हो सकती है। कुछ इलाकों में ओले भी गिर सकते हैं। मौसम का यह हाल 28 और 29 दिसंबर तक रहेगा। 30 दिसंबर से प्रदेशभर में कोहरा छा सकता है। 31 दिसंबर और 1 जनवरी को अच्छी ठंड रहेगी। दिन का तापमान काफी नीचे आएगा।

पश्चिमी वक्षोभ के कारण हुई बारिश

पाकिस्तान से आए पश्चिमी विक्षोभ के कारण चक्रवातीय घेरे के रूप में सक्रिय होने से एक ट्रफ लाइन पश्चिमी मध्यप्रदेश से गुजर रही है। पाकिस्तान के दक्षिणी हिस्से में चक्रवातीय गतिविधियां अरब सागर के काफी पास हैं। इसी कारण बहुत ज्यादा नमी आ रही है। इसका असर ट्रफ लाइन में काफी अस्थिरता के साथ दिखाई देने लगा है।