कुएं में गिरे तेंदुए को वन विभाग के अमले ने बाहर निकाला, इलाज के बाद जंगल में छोड़ा

भोपाल। भोपाल के बैरसिया तहसील में रामपुरा गांव के एक कुएं से  वन विभाग ने तेंदुए का रेस्क्यू कर बाहर निकाला। वन विभाग के अधिकारियों के अनुसार रात में वह शिकार के पीछे दौड़ते हुए कुएं में गिर गया था। जिसे पिंजरे और रस्सी के सहारे बाहर निकाला गया। चेकअप के बाद उसे जंगल में छोड़ा दिया गया है।

वन विभाग के अधिकारियों की माने तो राजधानी भोपाल के आसपास 22 टाइगर है। वहीं, तेंदुओं की भी अच्छी खासी संख्या है। पिछले 3 दिन में शहर के स्वर्ण जयंती पार्क, परवलिया कैम्प और रामपुरा गांव में तेंदुए का मूवमेंट देखा गया। इनमें से रामपुरा बालाचौन में तो तेंदुए को रेस्क्यू कर पकड़ लिया गया है।

रामपुरा के एक खेत स्थित कुएं में सोमवार को ग्रामीणों ने तेंदुए को पानी तैरता हुए देखा। इसके बाद ग्रामीणों ने वन विभाग को सूचना दी गई। वन विभाग के रेस्क्यू दल ने फौरन गांव पहुंचकर बचाव कार्य शुरू कर दिया। रेस्क्यू टीम की काफी मशक्कत के बाद तेंदुए को कुए से निकाल कर जंगल में छोड़ दिया।

पिंजरे और रस्सी के सहारे बाहर निकाला

कुएं में गिरे तेंदुए को कुएं से बाहर निकालने में वन विभाग को खासी मशक्कत करना पड़ी। रस्सी के सहारे पिंजरे को कुएं में पहुंचाया गया। जिसमें कई घंटों की मशक्कत के बाद तेंदुआ पिंजरे में आ सका। पिंजरे में आने के बाद तेंदुए का हेल्थ चेकअप भी किया गया। बैरसिया एसडीएम आरएन श्रीवास्तव भी मौजूद रहे।

समय रहते सूचना मिलने से जान बचाई जा सकी

रेंजर चौहान ने बताया, पानी में गिरने की वजह से तेंदुए को चोंट नहीं लगी लेकिन अगर ज्यादा समय पानी में रहता तो ठंड के कारण तेंदुए की मौत हो सकती थी। डॉक्टर द्वारा चेकअप के बाद उसे जंगल में छोड़ा दिया गया है।