भोपाल हमीदिया अस्पताल में खुलेगा IVF सेंटर, गरीब निःसंतान दंपतियों को मिलेगा लाभ

चिकित्सा शिक्षा मंत्री बोले- इस काम में तीन से चार महीने का समय लगेगा

सारांश न्यूज़ डेस्क, भोपाल
मध्यप्रदेश के निःसंतान दंपतियों के लिए खुशखबरी Good News है। प्रदेश में पहली बार सरकारी अस्पताल में जल्द ही इन विट्रो फर्टिलाइजेशन (IVF) सेंटर खुलने वाला है। इसके खुलने से राज्य के ऐसे गरीब दंपती, जिन्हें संतान सुख नहीं मिल पा रहा है। उनका अत्याधुनिक पद्धति से उनका इलाज किया जाएगा। राजधानी भोपाल के हमीदिया अस्पताल Bhopal Hamidia Hospital में यह सेंटर खुलेगा।

चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने बताया कि राजधानी भोपाल स्थित हमीदिया अस्पताल में IVF सेंटर खुलेगा। बजट का हमने प्रावधान कर लिया है। काम में तीन से चार महीने का समय लगेगा। इसको लेकर डॉक्टर और नर्सों को ट्रेनिंग दी जाएगी। चिकित्सा शिक्षा मंत्री ने कहा कि IVF सेंटर खुलने से गरीब निःसन्तान दम्पत्तियों को लाभ मिलेगा।

बता दें कि आईवीएफ तकनीक से माता-पिता बनने वाले लोगों की संख्या दिनों दिन बढ़ती जा रही है। हालांकि, IVF का निजी अस्पतालों में इलाज काफी महंगा है। निजी अस्पतालों में लाखों रुपए का खर्च आता है। ऐसे में आर्थिक रूप से कमजोर निःसंतान दंपति इस सुविधाओं का लाभ ले पाते हैं। राज्य सरकार की इस पहल से आने वाले समय में गरीब निःसंतान दंपतियों का सरकारी अस्पताल में इलाज हो सकेगा।