चिकित्सा शिक्षा मंत्री ने कहा, जनवरी तक मिल जाएगी जीनोम सिक्वेंसिंग की मशीन 

भोपाल। कोरोना जीनोम सिक्वेंसिंग में देरी के मामले पर मध्यप्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि जांच में लेटलतीफी नहीं हो रही है। डब्ल्यूएचओ ने कहा कि कोई भी कोरोना केस आए तो उसमें से 5% को जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजें। हालांकि हम तो सभी पॉजिटिव की जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेज रहे हैं। मेरी केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री से बात भी हुई है।

चिकित्सा शिक्षा मंत्री ने उम्मीद जताई है कि जनवरी के पहले सप्ताह तक हमें जीनोम सिक्वेंसिंग की मशीन मिल जाएगी। उन्होंने कहा कि पैनिक होने की जरूरत नहीं है। हम सभी कोरोना प्रोटोकॉल का पालन कर रहे हैं। प्रदेश में जिनकी भी जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए सैंपल भेजे गए हैं। उनकी रिपोर्ट जैसे-जैसे आ रही है, उसकी जानकारी दी जा रही है।