मौत के आठ महीने बाद भी नहीं मिले युवक के परिजन

कोहेफिजा पुलिस ने मर्ग कायम किया

Corona infection

सारांश न्यूज डेस्क, भोपाल । हमीदिया अस्पताल (Hamidia Hospital) के कोविड सेंटर (covid center) में एक युवक की कोरोना संक्रमण (Corona infection) के कारण मौत हो गई। घटना आठ महीने पूर्व की (The incident happened eight months ago) है। दरअसल, एंबुलेंस युवक को हमीदिया अस्पताल इलाज के लिए लेकर पहुंची थी, वहां कोविड टेस्ट कराया गया। कोविड टेस्ट में उसे कोरोना संक्रमण होने की पुष्टि हुई। लिहाजा उसे कोविड वार्ड में भर्ती करा दिया गया था।

उसकी इलाज के दौरान कु छ दिन बाद मौत हो गई। मृतक ने अपना नाम और पता बताया था। पते पर जब पुलिस पहुंची तो पता चला कि वहां इस तरह का कोई व्यक्ति रहता ही नहीं था। लिहाजा पुलिस ने खुद की कोविड गाइड लाइन के अनुसार मृतक का दाह संस्कार कर दिया।

चूंकि मर्ग डायरी मृतक के बैतूल स्थित मृतक के बताए पते अनुसार संबंधित थाने भेज दी थी। वहां उसका एड्रेस की पुष्टी नहीं हुई तब मर्ग डायरी कोहेफिजा थाना भेज दी गई। कोहेफिजा पुलिस अभी भी हुलिए के आधार पर परिजन सो संपर्क करने का प्रयास कर रही है। एसआई बाना सिंह पवार ने बताया कि 25 जनवरी को एंबुलेंस एक युवक को गंभीर हालात में हमीदिया अस्पताल लेकर पहुंची। युवक का अस्पताल में इलाज चल रहा था। करीब एक सप्ताह बाद युवक की मौत हो गई। मरने से पहले उसने अपना नाम हरीश कुमार धुर्वे पिता हुकुमचंद (32)  मुलताई बताया था।

मौत के बाद पुलिस ने मर्ग कायम कर मर्ग डायरी मुलताई पहुंचाई। वहां पहुंचने पर पता चला कि इस नाम का कोई भी व्यक्ति वहां नहीं रहता है। मुलताई पुलिस ने कोहेफिजा पुलिस से संपर्क कर यह जानकारी दी और कोहेफिजा पुलिस ने हरीश का अंतिम संस्कार कर दिया। मुलताई पुलिस ने मर्ग डायरी आठ महीने बाद बुधवार को कोहेफिजा थाने पहुंचाई थी। इसके बाद कोहेफि जा पुलिस ने मर्ग कायम कर लिया।