इंदौर में सिम स्वैपिंग से 20 लाख की धोखाधड़ी, हॉस्पिटल मालिक के खाते से निकाली रकम

इंदौर। इंदौर में सिम कार्ड स्वैपिंग से साइबर क्रिमिनल्स ने एक अस्पताल के मालिक के बैंक खाते से 20 लाख की रकम निकाल ली। इसके लिए साइबर अपराधियों ने उनके मोबाइल सिम कार्ड को दो बार बंद करवाकर और वन टाइम पासवर्ड ओटीवी नंबर शेयर करवाकर दो दिन में इस राशि को निकाल लिया।

साइबर क्रिमिनल्स ने 20 लाख की यह चपत गोकुलदास हॉस्पिटल के मालिक को लगाई है। इंदौर में इस तरह से रकम निकालने का यह पहला मामला सामने आया है। पुलिस साइबर सेल के एसपी जितेंद्र सिंह के अनुसार यह रकम 12 से 14 दिसंबर के बीच अस्पताल के मालिक के बैंक के करंट एकाउंट से 10 बार में ट्रांजेक्शन कर निकाले हैं। यह एकाउंट उनके भतीजे तन्नू अग्रवाल के नाम से है।

एसपी के अनुसार आज के समय में प्रत्येक व्यकि के पास स्मार्टफोन्स हैं। होटल बुकिंग, रेल और सिनेमा टिकट बुकिंग तक स्मार्टफोन्स के जरिये की जा रही है। अपराधियों ने स्मार्टफोन्स के जरिए ही सिम क्लोनिंग या सिम स्वैपिंग को भी अंजाम दिया है।