भोपाल के तलैया में श्री कृष्ण जन्म उत्सव पर कार्यक्रम में कृष्ण लीला मयूर नृत्य की प्रस्तुति सुदामा चरित्र और माखन चोरी श्री कृष्ण ने मटकी फोड़ी

सारांश न्यूज डेस्क, भोपाल । ‘माखनचोर-नंदकिशोर, यशोदा के लाल जैसे नामों से पुकारे जाने वाले नटखट कन्हैया का जन्मोत्सव ‘श्रीकृष्ण जन्माष्टमी (Shri krishna janmashtami) शुक्रवार को पारंपरिक उल्लास और श्रद्धा के साथ मनाई जाएगी। इसके लिए शहर के मंदिरों (Temples) और घरों में तैयारियां जोर-शोर से जारी हैं। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार (According to astrologers) वृद्धि व धु्रव योग के शुभ संयोग में पर्व मनाया जाएगा।

मंदिरों में बह्म मुहूर्त से ही विष्णुसहस्त्रनाम के पाठ शुरू हो जाएंगे। श्रीकृष्ण के भक्तगण दिन भर उपवास रखेंगे। मध्य रात्रि 12 बजे घंटे-घडिय़ाल और शंख ध्वनियों के बीच चारों तरफ ‘आलकी की पालकी, जय कन्हैयालाल  के स्वर गूंजने लगेंगे। पंडितों के अनुसार गुरुवार रात्रि 9: 20 के बाद अष्टमी की तिथि शुरू होगी, जो 19 अगस्त तक रहेगी। इसलिए इसी दिन श्रीकृष्ण जन्माष्टमी मनाई जाएगी।

बिड़ला मंदिर में विशेष आयोजन-

बिड़ला मंदिर में शुक्रवार को भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया जाएगा। रात्रि एक बजे तक मंदिर श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए खुला रहेगा। भक्तों की भीड़ को देखते हुए मंदिर में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम भी किए गए है। दादाजी धाम मंदिर रायसेन रोड में सुबह से ही धार्मिक आयोजन शुरू हो जाएंगे।

बांके बिहारी लाल मंदिर में कल लिखी जाएगी कुंडली-

चौबदारपुरा श्री बांके बिहारी लाल जी मार्कण्डेय महाराज मंदिर शुक्रवार को जन्मोत्सव मनेगा। दो दिवसीय उत्सव में पहले दिन श्री बांके बिहारी लाल जी संग प्रियाजू राधा रानी का भव्य श्रंगार किया किया जाएगा। रात्रि में 11 बजे पंचामृत स्नान, विष्णु सहस्त्रनाम पाठ, 1000 तुलसीदल तथा 1000 सुगंधित पुष्प से सहस्त्रार्चन किया जाएगा। रात्रि ठीक 12 बजे जन्मोत्सव आरती होगी एवं जन्मस्तुति बधाई भजन कीर्तन के बाद महाप्रसाद बांटा जाएगा। दूसरे दिन ठाकुर जी का नामकरण संस्कार जन्मकुंडली लिखी जाएगी।

इस्कान मंदिर में दिनभर चलेगा हरिनाम संकीर्तन-

रायसेन रोड स्थित इस्कान मंदिर मेंश्रीश्री राधा गोपीनाथ मंदिर में तड़के 4:30 बजे मंगल आरती से प्रारम्भ होकर रात्रि 1:30 बजे तक अनवरत कार्यक्रम चलते रहेंगे। मंदिर प्रबंधक अच्युत कृष्ण प्रभु ने बताया है कि इस दिन के कार्यक्रमों का मुख्य आकर्षण भगवान श्रीकृष्ण का महाभिषेक विभिन्न प्रकार के जल, फलों के रस, शहद समेत अन्य शुद्धतम खाद्य पदार्थों से किया जाएगा। बाद में प्रसाद रूप में भक्तों को वितरित किया जाएगा। नाट्य प्रस्तुति होगी। जन्माष्टमी के दूसरे दिन इस्कान संस्थापकाचार्य श्रील भक्तिवेदान्त स्वामी प्रभुपाद जी का प्राकट्य दिवस मनाया जाएगा।

श्रीकृष्ण मंदिर बरखेड़ा में होगी बृज की होली-

श्रीकृष्ण मंदिर यादव सभा और इस्कॉन भेल बरखेड़ा में जन्माष्टमी का पर्व कल मनाया जाएगा। अगले दिन नंदोत्सव तथा इस्कॉन के संस्थापकाचार्य श्रील प्रभुपाद का 125वां आविर्भाव महोत्सव भी मनाया जाएगा। भेल यादव सभा श्रीकृष्ण मंदिर समिति द्वारा शुक्रवार 7 बजे श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर मथुरा वृदांवन के प्रसिद्ध कलाकारों द्वारा रासलीला एवं बृज की होली की शानदार प्रस्तुति की जाएगी।

नेपाली समाज मंदिर में मनेगी जन्माष्टमी-

श्री पशुपतिनाथ नेपाली समाज मंदिर गोविन्दपुरा में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर शुक्रवार को शाम 7 बजे से पूजन अर्चन का आयोजन होगा। इस दौरान शाम 8 से रात्रि 12 बजे तक भजन -कीर्तन के बाद रात 12 बजे भगवान श्रीकृष्ण जी के जन्म की आरती होगी। साथ ही हर्षोउल्लास के साथ श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर्व मनाया जावेगा। श्री पशुपतिनाथ नेपाली समाज के अध्यक्ष विष्णु शर्मा एवं महामंत्री घनश्याम बेलबासे ने धर्मप्रेमियों से शामिल होने का आग्रह किया है।

मटकी फोड़ प्रतियोगिता 20 को, अभिनेता गोविन्दा होंगे शामिल-

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी उत्सव समिति के अध्यक्ष एवं भाजपा जिलाध्यक्ष सुमित पचौरी ने बताया कि समिति द्वारा भोपाल में मटकी फोड़ प्रतियोगिता हर साल आयोजित की जाती है। इस कड़ी में भव्य मटकी फोड़ प्रतियोगिता का आयोजन 20 अगस्त को शाम 7 बजे भगत सिंह चौराहा करोंद में आयोजित किया गया है। इस आयोजन में फिल्म स्टार गोविन्दा शामिल होंगे। प्रतियोगिता में शामिल होने आसपास के जिलों से टीम आएंगीं।