FIFA World Cup 2022 : करो या मरो के मैच में उतरेगी मेसी की टीम, सऊदी अरब भी चाहेगा लगातार दूसरी जीत

फ्रांस का अंतिम 16 में पहुंचना लगभग तय

FIFA World Cup 2022
FIFA World Cup 2022

दोहा । कतर विश्व कप में शनिवार (26 फरवरी) का दिन खास होने वाला है। गत विजेता फ्रांस के साथ-साथ खिताब की दावेदार अर्जेंटीना की टीम इस विश्व कप में दूसरी बार मैदान पर उतरेगी। अपने पहले मैच में ऑस्ट्रेलिया को रौंदने वाली फ्रांस की नजर मजबूत डेनमार्क के हराकर प्री-क्वार्टर फाइनल में अपनी जगह बनाने पर होगी। वहीं, सऊदी अरब के खिलाफ पिछले मैच में हैरान कर देने वाली हार के अर्जेंटीना की टीम मैक्सिको के खिलाफ अग्निपरीक्षा देने उतरेगी। दिन का पहला मैच ट्यूनिशिया और ऑस्ट्रेलिया के बीच होगा। वहीं, दूसरे मुकाबले में पोलैंड और सऊदी अरब की टीम आमने-सामने होगी। इसके बाद फ्रांस और फिर अर्जेंटीना का मैच होगा।

फ्रांस के खिलाफ मिली हार को भुलाना चाहेगा ऑस्ट्रेलिया

ऑस्ट्रेलिया बनाम ट्यूनिशिया टीमें अल जानुब स्टेडियम में आमने-सामने होंगी। अब तक ऑस्ट्रेलिया और ट्यूनिशिया के बीच दो मैच खेले गए हैं। दोनों को एक-एक जीत मिली है। ट्यूनिशिया की फीफा रैंकिंग 30 और ऑस्ट्रेलिया की रैंकिंग 38 है। ट्यूनिशिया ने अपने पिछले मैच में डेनमार्क को गोलरहित ड्रॉ पर रोक दिया था। वहीं, ऑस्ट्रेलिया को फ्रांस के खिलाफ 1-4 से हार मिली थी। दोनों टीमों की नजर टूर्नामेंट में पहली जीत पर होगी।

FIFA World Cup 2022 : 18 कोशिशों के बाद इंग्लैंड-अमेरिका नहीं कर सके गोल, अमेरिका नॉकआउट खेलेगी अगला मैच

दूसरी जीत के लिए उतरेगी सऊदी अरब की टीम

अपने पहले मैच में अर्जेंटीना को हराने वाली सऊदी अरब की टीम लगातार दूसरा मैच जीतने उतरेगी। उसके सामने पोलैंड की चुनौती होगी। यह मुकाबला एजुकेशन सिटी स्टेडियम में खेला जाएगा। दोनों टीमों के बीच अब तक चार मैच हुए हैं। पोलैंड ने सभी मुकाबलों में जीत हासिल की है। फीफा रैंकिंग की बात करें तो पोलैंड 26वें और सऊदी अरब 51वें स्थान पर है।

34 वर्षीय अनुभवी फॉरवर्ड रॉबर्ट लेवनडॉस्की से सऊदी अरब के खिलाफ गोल की उम्मीद है। वह पिछले मैच में मैक्सिको के खिलाफ गोल नहीं कर पाए थे। उन्होंने विश्व कप इतिहास में अब तक एक भी गोल नहीं किया है। दूसरी ओर, सऊदी अरब के मिडफील्डर सलेम अल-दोसारी ने पिछले मैच में अर्जेंटीना के खिलाफ विजयी गोल करके वाहवाही लूटी थी। उन्होंने अपने प्रदर्शन से सभी का दिल जीत लिया था। अब पोलैंड के खिलाफ भी दोसारी अपनी शानदार फॉर्म को जारी रखने उतरेंगे।

जीत दर्ज कर अंतिम 16 में जगह पक्की करना चाहेगा फ्रांस

सातवें दिन का तीसरा मुकाबला फ्रांस और डेनमार्क के बीच होगा। ओलिवर जिरूड अगर शनिवार को विश्व कप में डेनमार्क के खिलाफ गोल दागने में सफल रहे तो वह थिएरी हेनरी को पछाड़कर 52 गोल के साथ फ्रांस के लिए सबसे ज्यादा गोल करने वाले खिलाड़ी बन जाएंगे। फ्रांस की नजर स्टेडियम 974 में डेनमार्क के खिलाफ जीत दर्ज कर के नॉकआउट चरण में अपनी जगह पक्की करने पड़ होगी।

FIFA World Cup 2022 : नीदरलैंड-इक्वाडोर ने खेला ड्रॉ, ग्रुप ए में रोचक हुआ मुकबला

शनिवार को इस ग्रुप में अगर ट्यूनीशिया और ऑस्ट्रेलिया का मैच ड्रॉ रहा तो गत चौंपियन फ्रांस ग्रुप विजेता के तौर पर अगले चरण में क्वालीफाई कर जाएगा। फ्रांस की टीम डेनमार्क को इसलिए भी हल्के में नहीं ले रही है क्योंकि नेशंस लीग में उसे इस टीम के खिलाफ दो बार शिकस्त का सामना करना पड़ा। डेनमार्क जहां फ्रांस की कमजोर रक्षा पंक्ति का फायदा उठाना चाहेगा, वहीं यह देखना भी दिलचस्प होगा की टीम गिरोड और किलियन एम्बापे की अगुवाई वाली नई अग्रिम पंक्ति से कैसे निपटेगी।

मेक्सिको से हार कर बाहर हो सकती है अर्जेंटीना

सऊदी अरब से 1-2 की करारी हार के बाद लियोनल मेसी और अर्जेंटीना का काफी मजाक बनाया जा रहा है जिससे टीम शनिवार को मेक्सिको के खिलाफ होने मुकाबले में वापसी करने के लिए काफी दबाव में होगी। पहले ही मैच में मिली हार से अर्जेंटीना के टूर्नामेंट में बने रहने पर खतरा मंडरा रहा है और अगर उसे अपनी उम्मीदों को बरकरार रखना है तो मेक्सिको के खिलाफ तुरंत वापसी करनी ही होगी। यह उसके लिए करो या मरो वाला मुकाबला है। हारने पर टीम टूर्नामेंट से बाहर हो जाएगी।

FIFA World Cup 2022 : अंतिम क्षणों में गोल कर जीता ईरान, वेल्स को रेड कार्ड पड़ा भारी

अर्जेंटीना के पूर्व खिलाड़ी और पूर्व कोच गेरार्डो मार्टिनो अब मैक्सिको के कोच हैं और वह प्रतिद्वंद्वी टीम को करारा झटका देने के लिए रणनीति तैयार कर रहे हैं। मार्टिनो ने 2014 से 2016 तक अपने देश अर्जेंटीना की अगुवाई की, उन्हें लगातार कोपा अमेरिका के फाइनल में हार मिली जिसके बाद उन्होंने पद छोड़ दिया। अब वह कोच के तौर पर मेक्सिको को अंतिम-16 में पहुंचाने की कोशिश में जुटे हैं जिसके लिए वह अर्जेंटीना के खिलाफ कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहेंगे।