पूर्व भारतीय हॉकी कप्तान और हरियाणा के खेल मंत्री संदीप सिंह बने हरियाणा ओलंपिक संघ के निर्विरोध अध्यक्ष

चुनाव जीतने के मनीष ग्रोवर और अन्य साथियों के साथ संदीप सिंह।

पंचकूला। फ्लिकर सिंह के नाम से मशहूर पूर्व भारतीय हॉकी कप्तान और वर्तमान में हरियाणा के खेल मंत्री संदीप सिंह को रविवार को हरियाणा ओलंपिक एसोसिएशन का निर्विरोध अध्यक्ष चुना गया।

 

संदीप सिंह के सामने किसी ने भी पर्चा दाखिल नहीं किया था संदीप सिंह ने निर्विरोध अध्यक्ष चुने जाने पर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल का आभार जताया है।
संदीप सिंह के अलावा देवेंद्र सिंह को एचओए का महासचिव चुना गया है । हरियाणा के पूर्व सहकारिता मंत्री और मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नजदीकी मनीष ग्रोवर को हरियाणा ओलंपिक संघ का निर्विरोध कोषाध्यक्ष चुना गया है । वहीं राजकमल, रमनदीप, निशांत यादव, कर्नल राजपाल सिंह आहलुवालिया, विक्रम और बलबीर सिंह एग्जीक्यूटिव मेंबर बनाए गए। इसके अलावा वेदपाल, रानी तिवारी, सूरजपाल अम्मू, महेंद्र कुमार, राम निवास हुड्डा ,मोहम्मद शाइन, विक्रमजीत सिंह , विधायक असीम गोयल और अशोक मोर को उपाध्यक्ष चुना गया है। संयुक्त सचिव के चुनाव में जगमिंद्र सिंह ,अनिल खत्री ,नीरज तोमर जीत गए, जबकि योगेश कालड़ा, रविंद्र कुमार पन्नू हार गए।
संदीप सिंह से खिलाड़ियों को काफी उम्मीद है
अपने समय के दिग्गजों की खिलाड़ी रहे संदीप सिंह से खिलाड़ियों को उम्मीद है कि वे सरकार और ओलंपिक संघ में रहते हुए खिलाड़ियों के लिए और बेहतर करेंगे। हरियाणा भले ही छोटा सा राज्य है, लेकिन खेल के मामले में यक्ष पूरे देश में सबसे आगे है। टोक्यो ओलंपिक में भी अन्य राज्यों की तुलना में हरियाणा के खिलाड़ियों ने सबसे ज्यादा पदक जीते थे। इनमें स्वर्ण पदक विजेता नीरज चोपड़ा, रजत पदक विजेता पहलवान रवि दहिया, कांस्य पदक विजेता पहलवान बजरंग पूनिया के अलावा 41 साल बाद हॉकी में ओलंपिक का पदक जीतने वाली भारतीय हॉकी टीम में भी हरियाणा के कई खिलाड़ी शामिल थे। इसलिए खेल जगत से जुड़े लोगों ने उम्मीद जताई है कि संदीप सिंह के ओलंपिक संघ का अध्यक्ष बनने पर हरियाणा खेलों में और उन्नति करेगा, क्योंकि वह खेल मंत्री भी हैं । सबसे बड़ी बात संदीप सिंह एक उत्कृष्ट खिलाड़ी रहे हैं तो वे खिलाड़ियों को क्या जरूरत है और कैसे बेहतर बन सकते हैं। इस बारे में अच्छे से समझते हैं।